Friday, 16 March 2018

विश्वास मत

संगठन में हड़कंप मच गया। बोर्ड के कोर समिति के ही एक सदस्य  श्रीनिवास ने मैनेजिंग डायरेक्टर चन्द्रगुप्त के और उसकी  कोर समिति के  विरुद्ध विश्वास मत का प्रस्ताव बोर्ड मीटिंग में रख दिया। तय दिन पर विश्वास मत चन्द्रगुप्त और उसकी कोर समिति मात्र एक मत से बहुमत जीत गयी। 
कुछ ही अंतराल में पूरे संगठन में बड़े हेर फेर किये गए। नये बोर्ड में तब सबको आश्चर्य तब हुआ जब श्रीनिवास को फिर से चन्द्रगुप्त ने बोर्ड की कोर समिति में फिर मनोनीत कर दिया। 

" मैं आपका आभारी हूँ श्रीनिवास जी " चन्द्रगुप्त मोबाइल पर बात कर रहे थे।
 "हमारी योजना सफल हुई। पता लग गया बरगद की पेड़ में कितनी शाखाएं कमजोर हैं। भविष्य के लिए उनको काटना जरूरी हो जाएगा "

त्रिभवन कौल 


2 comments:

  1. via fb/TL
    -----------
    डॉ किरण तिवारी मिश्रा
    March 16 at 8:31pm
    😊👍 यथार्थ
    ----------------------
    गुप्ता कुमार सुशील
    March 21 at 1:33am
    वाह...सार्थक अति उत्तम प्रस्तुति आदरणीय.🙏

    ReplyDelete
  2. via fb/कथागार (युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच (न्यास)द्वारा संचालित)
    ----------------------------------------------------
    Sudha Mishra Dwivedi 11:21pm Aug 1
    वाहबहुत सुंदर व्यंग्य
    ----------------------------------
    Sneh Pandey 3:59am Aug 6
    वाह बहुत सुन्दर कम शब्दों में बड़ी व्यंग्य

    ReplyDelete